Amazing Tour Places गोवा के इन 10 अद्भुत किलो पर पर्यटकों की भीड़

Amazing  T

गोवा के इन 10 अद्भुत किलो पर पर्यटकों की भीड़ नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे वेबसाइट पे,जब हम 'किला' शब्द कहते हैं तो आपके दिमाग में क्या आता है? यह एक निर्माण या इमारत है जिसका उपयोग युद्ध के दौरान सैन्य बलों द्वारा क्षेत्रों की सुरक्षा के लिए किया जाता है। यदि आप गोवा में विशाल पुर्तगाली निर्माणों की एक झलक देखना चाहते हैं, तो किले निश्चित रूप से देखने लायक हैं। दुनिया भर के पर्यटक यहां रहना पसंद करते हैं और समुद्र तट राज्य के रंगीन इतिहास की खोज करते हैं। गोअन किले वर्तमान में खंडहर हो सकते हैं, लेकिन फिर भी आकर्षक हैं। आइए हम एक साथ उद्यम करें और गोवा के दस प्रसिद्ध किलों के बारे में बात करें। 1. चापोरा का किला चपोरा किले का वैकल्पिक नाम 'शाह का शहर' था जो उत्तरी गोवा में मापुसा से लगभग 10 किमी की दूरी पर स्थित है। किला प्रमुख रूप से चकाचौंध करने वाले वैगाटर बीच, मोरजिम बीच, ओज़्रान बीच और चापोरा नदी के अद्भुत दृश्य दीखते है। पुर्तगालियों ने 17 वीं शताब्दी में हिंदू हमलावरों पर सख्ती से नजर रखने के उद्देश्य से इस किले का निर्माण किया था। किले पर दो बार 1683 ई। में शिवाजी के पुत्र संभाजी और फिर 1739 ई। में भोंसले द्वारा गोवा की स्वतंत्रता तक हमला किया गया था, इस पर 1741 ई। किले के बारे में सबसे आश्चर्यजनक तथ्य यह है कि हमारी पसंदीदा बॉलीवुड फिल्मों में से एक 'दिल चाहता है' की शूटिंग भी यहाँ हुई थी! आप मापुसा से सड़क मार्ग द्वारा इस किले तक जा सकते हैं। यह वागाटोर बीच से ठीक 2 किमी पहले स्थित है। वागाटोर बीच में मौजूद एक पहाड़ी आपको पूरी आसानी से चापोरा किले तक पहुंचने में मदद करेगी। 2. कोरजूम किला कोरजुम द्वीप दुर्ग 19 वीं शताब्दी में पुर्तगालियों के संरक्षण के लिए बनाया गया था। यह एल्डोना गाँव से बहुत दूर नहीं है, लगभग 6 किमी दूर है और उत्तरी गोवा के बर्देज़ तालुका में स्थित है। इसका नाम 'खोरिक' से मिला है जिसे 'डीप' या 'लोअर' और 'ज़ुनेवम' यानी 'द्वीप' के रूप में परिभाषित किया गया है। यह एक वर्गाकार आकार का किला है, जिसे वर्ष 1551 में बनाया गया था। किले के कोनों को प्राचीर से बनाया गया है, जो किले के प्रत्येक कोने में मौजूद एक रैंप जैसी सीढ़ी द्वारा पहुँचा जा सकता है। यहाँ से गोयन लैंडस्केप देखना आँखों के लिए एक निश्चित उपचार है। किला तीन कमरों और एक छोटे चैपल के साथ एक कुआँ है। यह किला काफी आकर्षक है और हरे-भरे हरियाली के कालीनों से सुशोभित है। किले में फैबुलस पत्थर से निर्मित लेटराइट पत्थरों का निर्माण किया गया है। किले तक पहुंचना कोई बड़ा काम नहीं है। यह अल्मोना से कोरजुम तक एक केबल सस्पेंशन ब्रिज के माध्यम से एक सुचारू पाल होगा जो कि गोवा का प्रमुख सस्पेंशन ब्रिज है। 3. रीस मैगोस का किला गोवा का सबसे सुरक्षित किला कौन सा है? एक पुर्तगाली वायसराय अफोंसो डी नोरोन्हा द्वारा निर्मित गढ़ है। यह किला 1551 और 1554 के बीच बनाया गया था। यह कहाँ स्थित है? मंडोवी नदी के विलय बिंदु पर शानदार रीस मैगोस चर्च को देखने वाली पहाड़ी पर स्थित है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने किले को गोवा के विरासत केंद्र के रूप में पुनर्जीवित करने में मदद की। किले के सभी किनारों के दृश्य अभूतपूर्व हैं और प्रकृति में बेहद फोटोजेनिक हैं। 4. अगुआड़ा किला मांडोवी नदी के मुहाने पर मौजूद यह दुर्ग अरब सागर का भव्य दृश्य प्रस्तुत करता है। इस विशेष स्थान पर किले के निर्माण के पीछे का विचार दुश्मनों द्वारा हमलों की रोकथाम के लिए था। 1612 में निर्मित इस खूबसूरत किले में एक चार मंजिला पुर्तगाली लाइटहाउस भी है, जो देखने के लिए रमणीय है। यह कई गुजरने वाले जहाजों के लिए एक-स्टॉप गंतव्य है। 5. तेरेखोल किला 17 वीं शताब्दी में सावंतवाड़ी के राजा महाराजा सावंत भोंसले द्वारा इस किले के निर्माण को देखा गया था। इसका स्थान तेरखोल नदी पर है। इसे 1764 में फिर से बनाया गया था क्योंकि इसे एक पुर्तगाली वायसराय डोम पेड्रो मिगुएल डी अल्मेडा ने जब्त कर लिया था। किले का आंगन, जिसमें सेंट एंथनी का सुंदर चर्च है, अपने निकट और प्रियजनों के साथ समय बिताने के लिए एक भव्य स्थान है। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि इसे एक हेरिटेज होटल, फोर्ट तिरकोल हेरिटेज होटल में परिवर्तित कर दिया गया है, जो विशेष अवसरों पर केवल आम जनता के लिए है। 6. काबो दे रामा किला क्या आप जानते हैं कि हमारे प्रिय राम और सीता अयोध्या से अपने 14 साल के प्रवास के दौरान इस किले में रहे थे? इस किले में सबसे ज्यादा श्रद्धालुओं द्वारा पूजा की जाने वाली चर्च, सेंटो एंटोनियो का चर्च है। काबो डी राम बीच की अद्भुत नज़ारे आपको अवाक छोड़ देंगे। समुद्र तट अपने शांत वातावरण के लिए प्रसिद्ध है जो आपकी सभी चिंताओं को दूर करेगा। 7. राचोल का किला मडगांव के उत्तर-पूर्व में स्थित, यह विजयनगर और बीजापुर साम्राज्यों के बीच युद्धरत युद्धों के लिए जाना जाता है। यह 1520 में पुर्तगालियों को सौंप दिया गया था, मुसलमानों के खिलाफ सैन्य समर्थन के बदले में और इसकी शानदार प्रतिभा के लिए बहुत प्रशंसा की जाती है। वहाँ केवल एक प्रवेश द्वार मौजूद है जो राचोल मदरसा की ओर जाता है। 8. मोरमुगाओ किला वास्को का बंदरगाह इस गढ़ द्वारा संरक्षित है जो सालसेट के उत्तर-पश्चिमी बिंदु में स्थित है। हालांकि किले के खंडहर अब केवल एक चैपल और किले की दीवार की उपस्थिति की बात करते हैं, लेकिन इसमें शुरुआत में एक चैपल, पांच जेल और विशाल बल्व शामिल थे। मोरमुगाओ पुर्तगाली जहाजों के लिए एक महत्वपूर्ण बंदरगाह था। यह दक्षिण गोवा बार की सुरक्षा के लिए डोम फ्रांसिस्को दा गामा द्वारा बनाया गया था। 9. अंजेदिवा किला इसे पुर्तगाल के राजा ने वास्को डी गामा और गैस्पार दा गामा द्वारा सलाह दी गई थी। जैसा कि एक समुद्री आधार अंजादीप द्वीप पर अपनी उपस्थिति दर्ज करता है, किला जनता के लिए सुलभ नहीं है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि 18 दिसंबर 1961 को गोवा स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान किले को भारतीय सेना द्वारा कब्जा कर लिया गया था। किले के कब्जे को 'ऑपरेशन विजय' के रूप में संदर्भित किया गया था। 10. सिंक्वेरिम किला वर्ष 1612 में निर्मित, सिन्किरीम किला उत्तरी गोवा के कैंडोलिम में स्थित है, जो पणजी से 18 किमी की दूरी पर है। यह जानकर आपको हैरानी होगी कि किला निचले हिस्से में अगुआड़ा किले का एक विस्तार है। समुद्र तट पर पानी के खेल में संलग्न होने से आपके गोवा की यात्रा में हमेशा के लिए आनंदित करने वाले आनंदमय क्षण जुड़ सकते हैं। यह खाद्य और गोला-बारूद पर स्टॉक करने के लिए जहाजों को पार करने के लिए एक स्टॉपओवर भी है। उम्मीद है दोस्तो आपको Hp Video Status की यह जानकारी अच्छी लगी होगी. अच्छी लगी तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लाइक और शेयर करें. और आगे भी ऐसी ही ज्ञानवर्धक जानकारी पाने के लिए हमारे Facebook Page को like करना ना भुले. इस खबर के बारे में अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं.

    amazing in hindi

Hindi Info इस देश की महिलाएं कुर्सी पर नहीं बैठती हैं

इस देश की महिलाएं कुर्सी पर नहीं बैठती हैं वजह जानकर चौंक जाएंगे आप नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे वेबसाइट पे, दोस्तो पूरे विश्व में इस समय कई आतंकी गुट सक्रिय है। इन्हीं में एक बोको हराम भी है, जो नाइजीरिया में सक्रिय है।बता दे कि बोको हराम हर प्रकार की पश्चिमी शिक्षा व संस्कार का विरोधी है। यहां तक कि वह महिलाओं को कुर्सी तक पर बैठने की मनाही करता है। इसके चलते बोको हराम के प्रभाव वाले नाइजीरियों के पूर्वोत्तर क्षेत्र में महिलाओं ने उसके डर कुर्सी पर बैठना तक बंद कर दिया है। दोस्तो इसका सबसे ज्यादा खौफ स्कूली छात्राओं में और महिलाओं में हैं। इस गुट के आतंकी सैंकड़ों की तादाद में हमला करते हैं, जिस कारण सुरक्षा बल भी इनका मुकाबला नहीं कर पाते हैं। दोस्तो इस्लामी वहाबी और सलाफी विचार धारा को मानने वाला आतंकवादी संगठन बोको हराम जब किसी शहरों पर कब्जा करता है, तो उसके बाद यह वहां के लोगों विशेष रूप से महिलाओं के संबंध में आश्चर्यजनक कानून बनाता है। यदि कोई उसका उल्लंघन करता है तो उनको सजा देते है। दोस्तो बोको हराम ने साल 2014 में नाइजेरिया के पूर्वोत्तर इलाके से कई महिलाओं व लड़कियों का अपहरण कर लिया था। बोको हराम की दहशत के कारण लोगों ने उनके प्रभाव वाले इलाके आस पास अपनी लड़कियों को स्कूल भेजना बंद कर दिया है। इतना ही नहीं इनके डर से महिलाओं ने बाजार जाना छोड़ दिया है। गौरतलब है कि बोको हराम संगठन का आधिकारिक नाम जमाते एहली सुन्ना लिदावति वल जिहाद है, जिसका अरबी में मतलब हुआ जो लोग पैगंबर मोहम्मद की शिक्षा और जिहाद को फैलाने के लिए प्रतिबद्ध होते हैं। बता दे कि बोको हराम कुरान और हदीस की आड़ लेकर इस पूरे इलाके में महिलाओं और स्कूली छात्राओं का शोषण करता है। उम्मीद है दोस्तो आपको Hp Video Status की यह जानकारी अच्छी लगी होगी. अच्छी लगी तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लाइक और शेयर करें. और आगे भी ऐसी ही ज्ञानवर्धक जानकारी पाने के लिए हमारे Facebook Page को like करना ना भुले.

Amzing एलियन के बारे में ये 5 बातें शायद आप नहीं जानते

बहुत सुना होगा एलियन के बारे में लेकिन ये 5 बातें शायद आप नहीं जानते जरूर जानें नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे वेबसाइट पे, एलियन का अस्तित्व है या नहीं सभी के मन में यह प्रश्न बार बार उठता होगा। अगर एलियन हैं तो कहां रहते हैं। क्या कभी धरती पर एलियन आएं हैं। एलियन के बारे में किस्से कहानियां तो जरूर सुनी होंगी। पर एलियन के बारे में सच जानने की इच्छा तो आपके मन भी होगी। आज हम आप लोगों को एलियन के बारे में कुछ रोचक जानकारी बताने जा रहे हैं, जिसे शायद आप नहीं जानते हैं। एलियन से जुड़ी रोचक जानकारी- 1. बता दे वर्षों के वैज्ञानिक शोध से यह पता चला कि 10 हजार ईपू धरती पर एलियंस उतरे और उन्होंने पहले इंसानी कबीले के सरदारों को ज्ञान दिया और फिर बाद में उन्होंने राजाओं को अपना संदेशवाहक बनाया। 2. कहा जाता हैं इजिप्ट (मिस्र), मेसोपोटामिया, सुमेरियन, इंका, बेबीलोनिया, सिन्धु घाटी, माया, मोहनजोदड़ो और दुनिया की तमाम सभ्यताओं के विकास में एलियन का योगदान रहा है। 3. बता दे वैज्ञानिकों ने कई सालों के रिसर्च के बाद यह पता लगाया कि 'ओरायन' एक ऐसा नक्षत्र है जिसका हमारी धरती से कोई गहरा संबंध है। 4. बता दे हमारी धरती से 1,500 प्रकाशवर्ष दूर 'ओरायन' तारामंडल में वैसे तो दर्जनों तारे हैं लेकिन प्रमुख 7 तारे हैं। इस तारामंडल में 3 तेजी से चमकने वाले तारे एक सीधी लकीर में हैं जिसे 'शिकारी का कमरबंद' (ओरायन की बेल्ट) कहा जाता है। 5. सन् 2010 में खबर आई थी कि 1948 के बाद सुदूर अंतरिक्ष में रहने वाले एलियंस अमेरिका और ब्रिटेन के परमाणु मिसाइल वाले स्थलों पर कई बार मंडराए थे। उम्मीद है दोस्तो आपको Hp Video Status की यह जानकारी अच्छी लगी होगी. अच्छी लगी तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लाइक और शेयर करें. और आगे भी ऐसी ही ज्ञानवर्धक जानकारी पाने के लिए हमारे Facebook Page को like करना ना भुले.

Hindi Info दुनिया के 6 सबसे महंगे घर ये है

ये है दुनिया के 6 सबसे महंगे घर, NO.1 पर है भारत का यह आलीशान घर नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे वेबसाइट पे, दोस्तो आज हम आपको हमारी इस पोस्ट से ऐसे घर दिखाने रहे हैं, जो आपके सपनो का घर होगा। ऐसा घर जिसे देख पाना ही खुदकिस्मती होगी। आइए दोस्तो जानते है दुनिया के 6 सबसे मंहगे घरों कर बारे में। 1. मुकेश अंबानी का घर एंटीलिया दोस्तो एंटीलिया मुकेश अंबानी का घर है। यह दुनिया के सबसे महंगे घरों की सूची में पहले नम्बर पर है। इस घर की देखभाल के लिए ही 600 लोगों की जरुरत पड़ती है, तो सोचिए कितना विशाल घर होगा। यह घर मुम्बई में स्थित है। बता दे कि 27 मंजिला यह घर 4 लाख स्क्वायर फीट में बना हुआ है। इसको बनाने में 1 बिलियन डॉलर से भी ज्यादा लगा है। इसकी वर्तमान कीमत 23.9 बिलियन है। 2. विला लियोपोलाडा दोस्तो यह घर फ्रांस में स्थित है। इस घर के मालिक लीली सफरा है। बता दे कि इस घर को 2008 में 750 मिलियन डॉलर में लीली ने खरीदा था। वर्तमान में इसकी कीमत 3 बिलियन डॉलर है। 20 एकर में फैले इस घर को किंग लियोपोल्ड ने बनवाया था। 3. फेयर फिल्ड दोस्तो न्यूयार्क के सागापौनेग में स्थित फेयर फिल्ड नामक इस घर की कीमत वर्ष 2014 के अनुसार 5 मिलियन डॉलर है। इसके मालिक इरा रेनल्ट है। बता दे कि इस घर में 29 बेडरुम, 39 बाथ हैम्पटॉन कम्पाउंड तथा तीन स्वीमिंग पुल है। 4. वन हाइड पार्क दोस्तो लंदन शहर में स्थित वन हाइड पार्क किमत के मामले में चौथे नम्बर पर है। साल।2014 में जब इस मकान की कीमत लगाई गई है थी तब 237 मिलियन डॉलर थी। 5. किंगस्टन प्लेस गार्डनर दोस्तो लंदन में ही किंगस्टन गार्डनर भी स्थित है। इसकी वर्तमान कीमत 222 मिलियन डॉलर लगाया जा रहा है। बता दे कि वर्ष 2008 में इसे भारतीय मूल के बिजनेसमैन लक्ष्मी मित्तल ने इसे 117 मिलियन डॉलर में खरीदा था। यह लंदन के इजराइल एम्बेंसी के पास स्थित है। 6. एलीसन एस्टेट दोस्तो जापानी स्टाईल में बना एलीसन एस्टेट 23 एकर में फैला हुआ है। इसमें कुल 23 भवन है। इसके मालिक लैरी एलीसन है। बता दे कि इसकी कीमत 200 मिलियन डॉलर माना जा रहा है। इसमें एक तालाब, एक टी-हाउस, एक बाथ हाउस अलग से है। उम्मीद है दोस्तो आपको Hp Video Status की यह जानकारी अच्छी लगी होगी. अच्छी लगी तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लाइक और शेयर करें. और आगे भी ऐसी ही ज्ञानवर्धक जानकारी पाने के लिए हमारे Facebook Page को like करना ना भुले.

Hindi Info बांग्लादेश भारत से किन कारणों से अलग हुआ था

जानिए बांग्लादेश भारत से किन कारणों से अलग हुआ था? नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे वेबसाइट पे, बांग्लादेश का भारत से विभाजन भारत की आजादी के पूर्व से ही निर्धारित हो गया था, जब 1905 में भारत में वायसराय लॉर्ड कर्जन ने बंगाल को धार्मिक आधार पर पूर्वी व पश्चिमी बंगाल में बांट दिया था। इस तरह उन्होंने भारत के विभाजन के पूर्व ही बंगाल में विभाजन के बीज बो दिए थे। हालांकि बाद में लोगों के विरोध के बाद उन्होंने 1911 में विभाजन का फैसला रद्द कर दिया था किंतु इस फैसले ने मुस्लिम बंगालियों के मध्य राष्ट्रीयता की भावना जागृत कर दी थी। यही कारण है कि 1947 में भारत पाकिस्तान विभाजन के समय वर्तमान बांग्लादेश के निवासियों ने ही विभाजन का अभूतपूर्व समर्थन किया था। बांग्लादेश का विभाजन पाकिस्तान के ही तरह मोहम्मद अली जिन्ना के "दो राष्ट्र सिद्धांत" के अनुसार हुआ जिसके अनुसार हिंदू और मुस्लिम दो बिल्कुल विरोधी सभ्यताएं हैं जो साथ में नहीं रह सकती। हालांकि 1971 में जब बांग्लादेश, पाकिस्तान से अलग हुआ तब मोहम्मद अली जिन्ना के इस "दो राष्ट्र सिद्धांत" को बड़ी चोट पहुंची, क्योंकि पाकिस्तान और बांग्लादेश दो मुस्लिम राष्ट्र होते हुए भी भाषाई आधार पर अलग हुए, इसलिए कहा जा सकता है कि बांग्लादेश का निर्माण धार्मिक और भाषाई आधार पर हुआ। उम्मीद है दोस्तो आपको Hp Video Status की यह जानकारी अच्छी लगी होगी. अच्छी लगी तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लाइक और शेयर करें. और आगे भी ऐसी ही ज्ञानवर्धक जानकारी पाने के लिए हमारे Facebook Page को like करना ना भुले.

Hindi Info भारत की 3 सबसे बड़ी रॉयल्टी

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे वेबसाइट पे, भारत को दुनिया की सबसे मजबूत अर्थव्यवस्थाओं में से एक माना जाता है। भारत में कई अमीर लोग रहते हैं। भारत में कई बड़े घर भी हैं, हर कोई धन और प्रसिद्धि देखकर हैरान है। आज मैं आपको भारत के 3 सबसे बड़े शाही घरों के बारे में बताने जा रहा हूं। ये हैं भारत के 3 सबसे बड़े शाही घराने- 3. सिंधिया रॉयल हाउस सिंधिया राजघरानों को भारत का तीसरा सबसे बड़ा शाही घराना माना जाता है। इस शाही परिवार के मुखिया का नाम ज्योतिराज सिंधिया है। इस शाही परिवार के सभी सदस्य राजनीति में सक्रिय हैं और देश के लिए कुछ करना चाहते हैं। 2. राजकोट का शाही घराना इसे भारत का दूसरा सबसे बड़ा शाही घराना माना जाता है, यह भारत का एक प्रसिद्ध शाही घराना है। इस परिवार का हर व्यक्ति व्यवसाय और उद्योग में पूरी तरह से सक्रिय है। यह परिवार पिछले कुछ वर्षों से हाइड्रोकैमिकल और ईंधन रसायन जैसे बड़े व्यवसाय में करोड़ों रुपये का निवेश कर रहा है। 1. जोधपुर का शाही घराना जोधपुर का शाही महल भारत का सबसे बड़ा और समृद्ध शाही घर माना जाता है। भारत में सबसे बड़ी उम्मीद की इमारत इस शाही घराने के पास एक राजनीतिक राज्य के रूप में मौजूद है। जानकारी के लिए बता दें कि इस उम्मीद में 365 कमरे हैं। यह शाही घराना अपनी शाही शैली के कारण पूरे भारत के साथ-साथ दुनिया भर में प्रसिद्ध है। उम्मीद है दोस्तो आपको Hp Video Status की यह जानकारी अच्छी लगी होगी. अच्छी लगी तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लाइक और शेयर करें. और आगे भी ऐसी ही ज्ञानवर्धक जानकारी पाने के लिए हमारे Facebook Page को like करना ना भुले.